सन्न ऑफ़ साइल Son Of Soil Lyrics in Hindi– Hardeep Grewal

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram

Son of Soil Lyrics in Hindi Hardeep Grewal का नया गाना है. गीत को Hardeep Grewal ने खुद गाया है. गाने के Lyrics Hardeep Grewal ने लिखे हैं.

गीत का संगीत Minakshi Sharma द्वारा रचा गया है. गीत को Hardeep Grewal Music के लेबल के तहत जारी किया गया है.

इस गाने का DOP Sukh Kamboj है। इस गाने का VFX Swarn Creation ने किया है। वीडियो सांग को संजीव ठाकुर ने प्रोडूस किया है।

इस गाने का lyrics को निचे अपडेट किया है। आपको पसंद आया तो प्ल्ज़ शेयर करो।

Son Of Soil Song Details

गीत: Son of Soil
गायक: Hardeep Grewal
संगीत: Minakshi Sharma
Lyrics Hardeep Grewal
लेबल: Hardeep Grewal Music

Son Of Soil Lyrics in Hindi

ए, प्रूफ!

हो पट नई मैं जिमिदार दा
पट्ट नई मैं जिमिदार दा
बाहले तप्पड जो वैली सब तरदा
नि फोर्ड मेरा मारे लिश्का

फोर्ड़ मेरा मारे लिश्का
जांदा चीरदा ऐ दिल मुटियार द
नि पट नई मैं जिमिदार द

हो निकले सीलेंसरान को धुयाँ मर जानिये
नि कोल्याण न खैड़ियाँ न रूहन मर जानिये
नि कुर्ते पजामे नु जो नाईट सूट केहन्दियां
बाहलियाँ ओह एंक्ने नु दूरों पहचानिये नी

हो निकले सीलेंसरान को धुयाँ मर जानिये
नि कोल्याण न खैड़ियाँ न रूहन मर जानिये
नि कुर्ते पजामे नु जो नाईट सूट केहन्दियां
बाहलियाँ ओह एंक्ने नु दूरों पहचानिये नी

हो राखी ैथे रख कहके सद्दे ाला हक़्क़
ड़ेख जाट बैठा तकुए षिकार द

नि पट नई मैं जिमिदार दा
पट्ट नई मैं जिमिदार दा
बाहले तप्पड जो वैली सब तरदा
नि फोर्ड मेरा मारे लिश्का

फोर्ड़ मेरा मारे लिष्का
जांदा चीरदा ऐ दिल मुटियार द
नि पट नई मैं जिमिदार द

हो रड़के रड़के रड़के
वार्निंग जांदी बल्लिये
जेहड़ा बाह्लियन अखन दे विच रड़के
नि अल्ल्हदान ते खडा मारना
जातत मरदे वैरि दे सर चढ़ क

नि असले डा मीठ कोई ना
जेहड़ा मर्ज़ी चला दे हाथ पहाड के
नि असले डा मीठ कोई ना

हो जो तू काहे करदा अर्रंगे बल्लिये
नि देख रेंज बल्लिये नई स्ट्रेंज बल्लिये
गद्दियां दे नुम्बरं टन जज कर ळ
नि सब मुहरे धार ल न होये चेंज बल्लिये

जो तू काहे करदा अर्रंगे बल्लिये
नि देख रेंज बल्लिये नई स्ट्रेंज बल्लिये
गद्दियां दे नुम्बरं टन जज कर ळ
नि सब मुहरे धार ल न होये चेंज बल्लिये

गरेवाल रेह्न्दा जेहड़ा पिंड ऐ जमालपुर
३१ ते ५१ करतार द
नि पट नई में

पट्ट नई मैं जिमिदार दा
बाहले तप्पड जो वैली सब तरदा
नि फोर्ड मेरा मारे लिश्का

फोर्ड़ मेरा मारे लिश्का
जांदा चीरदा ऐ दिल मुटियार द
नि पट नई मैं जिमिदार द

हो न कोई सर परचा नई फेर वि ऐ चर्चा नी
चांदीगढ़ शेहर विच खुला करे खरचा नी
४×४ जाट बोल्दा ऐ थोड़ा घट
मास्ति च टूररदा ऐ खाद्द थोड़ा परे हट

न कोई सर परचा नई फेर वि ऐ चर्चा नी
चांदीगढ़ शेहर विच खुला करे खरचा नी
४×४ जाट बोल्दा ऐ थोड़ा घट
मास्ति च टूररदा ऐ खाद्द थोड़ा परे हट

दूंगियां ने जादा ऐवें मर्दा न फद
नाम एरिया च बोले सरदार द
नि पट नई मैं

Son Of Soil Video Song

Share this post with your friends

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on telegram